कोरोना वायरस : यूक्रेन में अपने ही लोगों के ख़िलाफ़ सड़क पर उतरे लोग

यूक्रेन में प्रदर्शनकरियों ने कई बसों में तोड़फोड़ की है. ये लोग उन लोगों का विरोध कर रहे हैं जिन्हें कोरोना वायरस के चलते चीन से एक बचाव अभियान के तहत वापस लाया गया है. बचाव दल द्वारा वापस लाए गए अधिकांश लोग युक्रेनी नागरिक हैं. जिन बसों पर हमला किया गया है वो इन लोगों को एक हेल्थ स्पा के जा रही थी.वापस लाए गए लोग एक हेल्थ स्पा में अगले चौदह दिनो तक रहेंगे जहाँ उनकी गहन जाँच की जाएगी.

Source PixaBay

 

युक्रेनी अधिकारियों का कहना है कि इस विरोध प्रदर्शन की शुरुआत एक फ़र्ज़ी ईमेल से हुई जिसमें यह कहा गया कि चीन से लाए गए इन लोग़ों में कुछ को क़ोरोना वायरस है. युक्रेनी अधिकारी इस फ़र्ज़ी ईमेल के स्रोत का पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं.

हालाँकि अभी तक यूक्रेन के स्वस्थ विभाग ने इनमें से किसी के भी कोरोना वायरस से संक्रमित होने से इनकार किया है. बचाव दल के हवाले से बताया है कि बीस फ़रवरी को 45 युक्रेनी और 26 विदेशी लोगों को चीन से वापस यूक्रेन लाया गया है. चीन में जिन तीन यूक्रेनी नागरिकों में कोरोना संक्रमण पाया गया उन्हें चीन के ही अस्पताल में इलाज के लिए छोड़ा गया है.

यूक्रेन की सरकार ने विरोध करने वाले लोगों से शान्त रहने और वापस लाए गए लोगों के प्रति सहानुभूति जताने की अपील की है.

चीन के सरकारी आँकड़ो के अनुसार कोरोना वायरस से चीन में अब तक दो हज़ार से अभी अधिक जान जा चुकी हैं.