रूस में सरकार विरोधी प्रदेशन, 3000 लोग हिरासत में

रूस में हज़ारों लोग विपक्षी नेता और राष्ट्रपति पुतिन के धुर विरोधी एलेक्सी नवलनी के समर्थन में सड़कों पर उतर गए हैं. मीडिया में आई रिपोर्टों के अनुसार विरोध-प्रदर्शनों के दौरान रूसी पुलिस ने 3,000 से अधिक लोगों को हिरासत में लिया है. इन प्रदर्शनों को एक आधिकारिक सरकार की अनुमति नहीं मिली है और अधिकारियों ने लोगों को उन्हें उपस्थित नहीं होने की चेतावनी दी है.

इस विरोध की शुरुआत पिछले सप्ताह से हुई जब पिछले रविवार देर रात मॉस्को हवाई अड्डे पर नवलनी को हिरासत में लिया गया. सोमवार को, उन्हें एक अप्रत्याशित सुनवाई का सामना करना पड़ा जहां एक न्यायाधीश ने नवलनी को आदेश दिया कि वे 30 दिन तक हिरासत में रहेंगे.

44 वर्षीय नवलनी पिछले वर्ष 20 अगस्त को जब साइबेरिया के शहर तोमस्क से हवाई जहाज से मॉस्को लौट रहे थे, तभी वह अस्वस्थ हो गए. आरोप है कि नवलनी को विमान यात्रा के दौरान चाय में मिलाकर जहर दे दिया गया. इसके बाद उन्हें इलाज के लिए जर्मनी ले ज़ाया गया जहां उन्हें ज़हर देने की पुष्टि की गई. नवलनी के समर्थक पुतिन सरकार पर उन्हें ज़हर देने का आरोप लगा रहे हैं.

पिछले सप्ताह नवलनी जब स्वस्थ होकर जर्मनी से मॉस्को लौट रहे थे तभी उन्हें मॉस्को हवाई अड्डे पर गिरफ़्तार कर लिया गया. विरोध प्रदर्शनों को उकसाने के लिए नवलनी के कई सहयोगियों को इस सप्ताह हिरासत में लिया गया है, जिसमें उनके प्रवक्ता किरा यर्मिश, एंटी-करप्शन फाउंडेशन के जांचकर्ता जियॉर्जी अल्ब्रोव और विपक्षी कार्यकर्ता हुसोव सोबोल शामिल हैं.

कौन हैं एलेक्सी नवलनी

एलेक्सी नवलनी एक वकील और भ्रष्टाचार के खिलाफ काम करने वाले कार्यकर्ता हैं. वह सरकार विरोधी प्रदर्शन आयोजित करने को लेकर कई बार जेल जा चुके हैं. नवलनी कई भ्रष्टाचार से जुड़े मामलों की जाँच में शामिल रहे हैं. उन्हें पिछले साल भी गिरफ़्तार किया गया था. जेल में उनकी तबियत ख़राब होने पर उन्हें जेल से अस्पताल लाया गया और तब भी उनके समर्थकों ने कहा था कि उन्हें जेल में ज़हर दिया गया है.

2017 में उनके ऊपर एक रैली के दौरान हमला किया गया। इस दौरान उनकी एक आंख में किसी ने केमिकल डाइ फेंक दी जिसकी वजह से उनकी आंख के कॉर्निया को नुकसान पहुंचा था. तब भी यह आरोप लगा था कि यह हमला पुतिन समर्थकों ने किया है. नवलनी पर पुतिन सरकार द्वारा कई भ्रष्टाचार के मामले दर्ज किए गए हैं. नवलनी के समर्थक कहते हैं यह मामले उन्हें परेशान और दबाने के लिए दर्ज किए गए हैं.

रूस में नवलनी की छवि एक कट्टर पुतिन विरोधी की है जो भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ खुल कर आवाज़ उठाता है. वे रूस के प्रमुख विपक्षी नेता हैं. नवलनी ने 2018 के राष्ट्रपति चुनाव में पुतिन को चुनौती देने के लिए प्रचार अभियान चलाया था, लेकिन उन्हें उम्मीदवारी से प्रतिबंधित कर दिया गया था.

रूस के इतिहास में क्रेमिलन के विरोधियों को जहर दिए जाने और संभावित तौर पर जहर देने से बीमार होने की कई घटनाएं हुई हैं.